शनिवार, 23 अगस्त 2014

छग में 11 माओवादियों का एनकाउंटर

छत्तीसगढ़ में चल रहे माओवादियों के शहीदी सप्ताह के दौरान पुलिस ने पांच कमांडरों समेत 11 माओवादियों को मार गिराने का दावा किया है। बस्तर पुलिस महानिरीक्षक एसआरपी कल्लूरी इसे अब तक का सबसे बड़ा एनकाउंटर बता रहे हैं। केंद्रीय सुरक्षा बल (सीआरपीएफ), कोबरा बटालियन और पुलिस ने संयुक्त ऑपरेशन के दौरान सुकमा जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्र में पड़ने वाले रामाराम पुलिस व नक्सली मुठभेड़ में 11 माओवादियों को मार गिराया। हालांकि पुलिस को मौके से केवल एक शव बरामद हुआ है। मुठभेड़ में 7 जवानों के भी घायल होने की खबर है। मुठभेड़ सोमवार को दोपहर 4 बजे के करीब हुई है।
पुलिस मुख्यालय के मुताबिक चिंतागुफा थाना से सीआरपीएफ व जिला पुलिस बल की संयुक्त पार्टी करीगुण्डम इलाके में सर्चिंग पर निकली थी। इस दौरान करीगुण्डम के रामाराम के पास बड़ी संख्या में माओवादियों द्वारा शहीद सप्ताह को लेकर मीटिंग ली जा रही थी। जवानों के आने की भनक लगते ही नक्सलियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी।
बस्तर के पुलिस महानिरीक्षक एसआरपी कल्लूरी ने तहलका की घटना की पुष्टि करते हुए दावा किया कि ये अब तक का सबसे बड़ा एनकाउंटर है। सीआरपीएफ और स्थानीय पुलिस ने 11 नक्सलियों को मारा है। जिनमें 5 नक्सली कमांडर भी शामिल हैं।
सुकमा के पुलिस अधीक्षक डी श्रवण ने तहलका को बताया कि मौके पर करीब 40 माओवादी इकट्ठे हुए थे। करीब दो घंटे तक चली गोलीबारी के बाद घटना स्थल की सर्चिग करने पर एक नक्सली का शव बरामद किया गया है। एक भरमार बंदूक भी मिली है। नक्सली अपने मृत साथियों के शवों को अपने साथ ले जाते हैं। ऐसे में (शव ना मिलने की स्थिति में) पुलिस स्थानीय ग्रामीणों से नक्सलियों के मारे जाने की पुष्टि करती है, गांववालों से हमें पता चला है कि 11 नक्सली मारे गए हैं। सीआरपीएफ के आईजी हरप्रीत सिंह सिद्धू ने भी इसकी पुष्टि की है।
माओवादियों अपने शहीद साथियों की याद में प्रति वर्ष की तरह इस वर्ष भी 28 जुलाई से 3 अगस्त तक शहीद सप्ताह मनाने का आहवान किया है। इसे लेकर माओवादियों ने दक्षिण बस्तर के अलग-अलग हिस्सों में बैनर-पोस्टर लगा रखे हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार माओवादी सुकमा जिले के चिंतलनार, जगरगुण्डा, कांकेरलंका व भेज्जी के अंदरूनी इलाकों में शहीद सप्ताह को लेकर बैठकें ले रहे थे। शहीदी सप्ताह को देखते हुए ही पुलिस ने सर्चिंग भी तेज कर दी थी। बहरहाल, पुलिस इसे बड़ी सफलता मानकर चल रही है।


एक टिप्पणी भेजें